कविताएं दिल के लिए गीत हैं, कविता लिखना मुझे जीवंत महसूस कराता है यहाँ मैं "आखिरी मुलाकात से पहले" एक प्रेम कविता साझा कर रही हूँ।

आख़िरी मुलाक़ात से पहले


तर्क-वितर्क सवालात थे बहुत,,
मन में कई खयालात थे बहुत,,

आक्रोश उमड़ के आ रहा था,,
दिन भर तेरा ख्याल सता रहा था,,

 ढल जाए कैसे भी रात ये,,
 दिल मेरा बस यही चाह रहा था।।

उम्र भर यही सबब आएगा हिस्से,,
इस बात पर मैं अफसोस जता रहा था।।

तेरी आखिरी मुलाकात से पहले,,
 मैं खुद को यूं मना रहा था।।
मैं खुद को यूं मना रहा था ।।

#lovepoetry #pixiepoetry #poetry #poem #love #urdupoem #hindipoems

1 comment

Related Posts

See All

Most Liked Poems

1/10

Subscribe For Poem of The Week!

Receive a new poem on your inbox weekly. Sign Up Now!

Hindi Poetry

English Poems

Love Poems

Life Poems

Friendship Poems

Women Poems

Rape Poems

Girl Poems

Mere Alfaz

Subscribe For Poetry of The Day

  • Facebook
  • Twitter
  • Instagram
  • Pinterest
  • LinkedIn
Attention! This function is not allowed here © Pixie Poetry™ All right reserved DMCA Protected

© 2020 Pixie Poetry All Right Reserved of Respective Authors