Emotional Poem On Indian Soldier in Hindi Describing their Family's Pain

Soldiers are the backbone of the nations and real time heros. They are the reason for our well being.
A Soldier fights not because he hates what is in front of him, but because he loves what is behind him.

Sacrifice of a soldier can not be defined in words. Here i am sharing the pain of soldier's family and civilians demanding action against terrorism.

सैनिक

आज लहू है आंखों में,

मिनट भर का मौन नहीं , दरिंदो का सर चाहिए।

हर उस बच्चे को जिसने अपने पिता को खोया, या खोया हो जिसने, माथे का सिंदूर, माँ उसकी चीख के कहती, चाहिए हमें आतंकियों का खून।


बापू की आंखें नम हैं ,

मगर एक न आंसू छलकाया है ।

आज तिरंगे में लिपटा उनका अभिमान आया है ।

नक्सलियों ने खंजर यूं चुभोया है ,

शहीदी पर आज पूरा हिंदुस्तान रोया है ।


राज पथ पर बहुत हुआ शक्ति प्रदर्शन, अब यह शक्ति सरहद पार दिखलाइये, निंदा नहीं अब आतंक का उपचार हमें चाहिए।

न्योछावर कर गए प्राण सरहद पर जो प्रहरी,

उन शेरों के बलिदान का प्रतिशोध चाहिए। गलत सहना भी जग में कायरता कहलाती है,

अब अहिंसा का पाठ नहीं, इस नासूर का इलाज चाहिए ।


सब्र बांद टूटा है ,

पुलवामा से न मेरा वीर लौटा है ।

जिनके दम पर कहते हम "भारत महान" है ,

इस देश के पहरेदार को मेरा सलाम है ।


आज लहू है आंखों में ।

#soldierpoem #pixiepoetry


Salute to all our heroes who are the reason for our well being. If you loved this emotional "soldier Poem" raising voice against terrorism .

Don't forget to share , like and subscribe for daily updates .

3 comments

You May Like

1/5

Subscribe to the poetry of the day!

Never hesitate to love poetry

 Sign Up Now !

New to Pixiepoetry?

Login now to explore poetry just for you!

Subscribe For Poetry of The Day

FOLLOW US

Attention! This function is not allowed here © Pixie Poetry™ All right reserved DMCA Protected
  • Facebook
  • Twitter
  • Instagram
  • Pinterest
  • LinkedIn

© 2020 Pixie Poetry All Right Reserved of Respective Authors  DMCA  Protected