Best Love shayari captions for instagram in Hindi

Love Shayari captions



जी रहे हें तुमसंग इश्क़ इसकदर ।
कि आजकल इश्क लिखने का ख्याल ही नहीं आता॥
Ji rahe hein tum sang ishq isqadar
Ki aajkl ishq likhne ka khyaal hi nahin aata..
क्या हमारे दीवाने हो ? नहीं। 
क्या मेरे अफसाने हो ? नहीं तो । 
काम क्या है मुझे, तुम ये कह दो जरा ॥ 
Kya hmaare diwaane ho? nahin..
Kya mere afsane ho? nahi to,
kaam kya hai mujhe, tum ye kahdo jara..
अर्ज़ किया है - Love Shayari

अर्ज़ किया है ..
तेरे चेहरे पर ये कैसा नूर है ..
ये मेरा इश्क़ है या फ़ितूर है ..
Arz kiya hai ..
tere chehre par ye kaisa noor hai..
ye mera ishq hai ya fitoor hai.
 #loveshayari 
जरा सी ज़िंदगी है बस लिखकर बितानी है । 
परिंदा हूँ ओर उड़ना मेरी कहानी है॥ 
Jra si zindgi hai bs likhkar bitaani hai..
parinda hun or udna meri kahani hai.

मोहब्बत का आलम..

मेरी मोहब्बत का ये आलम है कि
मैं जितना उसके पास जाता हूँ
      वो मुझसे उतना ही दूर हो जाती है..
Meri mohbbt ka aalam ye hai ki..
me jitna uske pass jaate hun..
vo mujhse uttna hi dur hojati hai..

#ishqshayari


पागल होने के लिए..

मैं पल पल तरसता हूँ उनसे बात करने के लिए
बस ये तड़पन भी तो काफ़ी है एक पागल होने के लिए..

#merealfaz

बहुत कुछ लिखा था मेंने तुम्हारे लिए ...
लेकिन बदकिस्मती तो देखो मेरी...
तुम मेरी आँखें तक पढ़ ना सके ...
Bahut kuch likha tha mene tumhare liye..
lekin bdkismati to dekho meri..
tum meri ankhein tak na pad sake.
जानें क्यूँ ..
ख़ुद से नाराज़ रहता हूँ 
जब तुमसे बात नहीं होती ...
Jane kyon..
khud se naraz rahta hun..
jab tumse baat nahin hoti.
कुछ तो ऐसी बात है उसकी आँखों में ...
जो मुझे हर घड़ी उससे मोहब्बत करने को मजबूर करती है ॥
Kuch to aisi baat rahi hogi uski ankhon mein..
jo mujhe har ghadi usse mohbbt karne ko majboor karti hai.
में भले ही इस रात के आगोश में सो जाऊँ..
लेकिन मेरा दिल तुम्हारी याद में जागता रहता है..॥
Me bhle hi is raat ke aagosh me sojaun..
lekin mera dil tumhaari yaad me jaagta rahtahai.

सताया ना करो..

तुम यूँ ना सताया करो मुझे,
 जो बात दिल में है..
मेहरबाँ बता दिया करो मुझे..।
Tum yon na sataya karo mujhe..
Jo baat dil me hai..
mehrban bta diya karo mujhe.
गुस्ताखी माफ करना ...
तुम्हारे इस मिज़ाज से अब नफरत सी होने
 लगी है अब मुझे..।
Gustakhi maaf karna..
tumhare is mizaz se ab nafrat hone
 lagi hai ab  mujhe.

फैसला हो नहीं पाया

कुछ गलती उससे हुई, कुछ गलती मुझसे ..
और इस गलतफ़हमी में, कोई फैसला हो नहीं पाया ..।
Kuch galti usse hui, kuch galti mujhse..
or is galatfahmi me, koi faisla ho hi nahin paya.

उसका जाना

कुछ ऐसी कश्मकश में फंस चुका था में 
कि शायद उसका जाना भी सही था ...।
Kuch aisi kasmakash me fans chuka tha me..
ki shayad uska jaana bhi sahi tha..

अक्सर..

अक्सर ऐसा होता है...!!
जिसकी यादों में हमारी नींद उड़ जाती है..
वो किसी और के ख़यालों में सो जाता है
Aksar aisa hota hai..
jiski yaadom me hmari nind ud jaati hai..
vo kisi or ke khyalon me sojata hai.

#merealfaz

0 comments

Related Posts

See All

You May Like

1/5

Subscribe to the poetry of the day!

Never hesitate to love poetry

 Sign Up Now !

New to Pixiepoetry?

Login now to explore poetry just for you!

Subscribe For Poetry of The Day

FOLLOW US

Attention! This function is not allowed here © Pixie Poetry™ All right reserved DMCA Protected
  • Facebook
  • Twitter
  • Instagram
  • Pinterest
  • LinkedIn

© 2020 Pixie Poetry All Right Reserved of Respective Authors  DMCA  Protected